उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन पर शुभकामनाएं-Birthday wishes of Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath

0
0

योगी आदित्यनाथ जी का जन्म साल 1972 में 5 जून को हुआ। हर साल 5 जून को योगी आदित्यनाथ का जन्मदिन मनाया जाता है।

योगी आदित्यनाथ जी का शुरुआती जीवन

योगी आदित्यनाथ का जन्म साल 1972 में 5 जून को उत्तराखंड में एक राजपूत परिवार में हुआ। योगी आदित्यनाथ के पिता का नाम महंत अवैद्यनाथ था।

योगी आदित्यनाथ के पिता जी महाराज गुरु गोरखनाथ मंदिर के पुजारी थे। योगी आदित्यनाथ ने गढ़वाल एच.एन.बी. विश्वविद्यालय से विज्ञान से स्नातक की पढ़ाई पूरी की।

योगी आदित्यनाथ जी ने देश के सभी हिन्दू युवाओं को लाकर हिन्दू युवा वाहिनी का निर्माण किया।

जानिए योगी आदित्यनाथ के युवा वाहिनी संगठन के बारे में

हिंदू युवा वाहिनी संगठन योग्यता द्वारा स्थापित किया गया है। हिंदू युवा वाहिनी संगठन हमेशा किसी न किसी तरह के विवादों में उलझा रहता है।

साल 2005 में हिन्दू युवा वाहिनी संगठन पर पुलिस ने मउ में हुए दंगों का आरोप लगाया था। इसी के साथ साल 2007 में हिन्दू युवा वाहिनी पर गोरखपुर दंगों का भी आरोप लगा।

योगी आदित्यनाथ का राजनैतिक सफर

देश के बारहवें लोकसभा चुनाव में योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से चुनाव जीतकर सबसे कम उम्र में सांसद बने। जब योगी आदित्यनाथ पहली बार सांसद बने तब उनकी उम्र मात्र 26 वर्ष थी।

योगी आदित्यनाथ ने साल 1998 से 1999 तक कई बड़ी कंपनियों में कमेटी ऑफ़ फ़ूड, डिपार्टमेंट ऑफ़ सुगर एंड एडिबल आयल, सिविल सप्लाई,मिनिस्ट्री ऑफ़ होम अफेयर्स जैसी कंपनियों में काम किए।

साल 1999 में योगी आदित्यनाथ दुबारा निर्वाचित हुए और पहले सभी पदों पर बने रहे। साल 2004 में योगी आदित्यनाथ ने फिर एक बार इसी सीट से चुनाव जीता और सभी पुराने पदों पर काम करते रहे।

साल 2009 में पन्द्रहवें लोकसभा में योगी आदित्यनाथ को लोगों ने फिर से अपना प्रतिनिधि चुना। इसी के साथ इस बार योगी आदित्यनाथ परिवहन, पर्यटन और संकृति के कमिटी मेम्बर भी बने।

इसके बाद साल 2014 में भारत के सोलहवे लोकसभा चुनाव में गोरखपुर सीट से जीत कर एक बार फिर योगी आदित्यनाथ लोकसभा सांसद बने। इसके अलावा योगी आदित्यनाथ हिंदू महासभा के अध्यक्ष भी हैं।

योगी आदित्यनाथ के राजनैतिक विवाद

योगी आदित्यनाथ पर कई बड़े आपराधिक मामले दर्ज हैं। इन सभी मामलों में कुछ दंगों को भड़काने का आरोप, खतरनाक हथियारों को रखने का आरोप, ओर तो ओर गैर कानूनी तरह से सभा लगाने के आरोप भी शामिल हैं।

साल 2005 में योगी आदित्यनाथ पर धर्म परिवर्तन करने के आरोप लगे। योगी आदित्यनाथ पर यह आरोप था कि ये ईसाई धर्म के लोगों को किसी विशेष तरह से हिंदू धर्म में बदलने की कोशिश कर रहे हैं।

इसी के साथ योगी आदित्यनाथ पर आरोप है कि उतर प्रदेश के एटा में इन्होंने लगभग 1800 ईसाइ धर्म के लोगों को हिन्दू धर्म में परिवर्तन किया।

योगी आदित्यनाथ का मुख्यमंत्री बनने का सफर

योगी आदित्यनाथ काफी लंबे समय से भाजपा से जुड़े हुए हैं। उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के योगी आदित्यनाथ अपने बढ़ते प्रभाव के कारण एक बड़े और ताकतवर चेहरे बन गए हैं।

योगी आदित्यनाथ जी के समर्थन में जो भी लोग होते हैं उनके लिए योगी आदित्यनाथ की कही हुई बात पत्थर की लकीर बन जाती है। गोरखपुर और उसके आसपास के क्षेत्रों में योगी आदित्यनाथ का और इनके संगठन का बहुत प्रभाव है।

साल 2017 में योगी आदित्यनाथ की संगठन में अच्छी पकड़ को देखते हुए उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों में प्रचार की जिम्मेदारी योगी आदित्यनाथ के कंधों पर डाल दी गई थी।

इस जिम्मेदारी को योगी आदित्यनाथ ने बहुत अच्छे से निभाया और उनके बाद भारतीय जनता पार्टी को एक बड़ी जीत मिली। इन सबके बाद योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बनने के बड़े दावेदार बन गए।

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के प्रभाव को देखते हुए इन्हें प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी गई। इसके बाद साल 2017 में 19 मार्च को योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की शपथ ग्रहण की।

https://www.pmwebsolution.in/
https://www.hindiblogs.co.in/contact-us/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here