किरण बेदी की कहानी-Story of Kiran Bedi

0
0

किरण बेदी का जन्म 9 जून 1949 में हुआ था। हर साल 9 जून को किरण बेदी का जन्म दिवस मनाया जाता है। किरण बेदी एक कार्यकर्ता,एक भारतीय राजनेता, टेनिस खिलाड़ी और एक रिटायर्ड पुलिस ऑफिसर है।

किरण बेदी का प्रारंभिक जीवन

किरण बेदी का जन्म साल 1949 में 9 जून को अमृतसर में हुआ था। किरण बेदी के पिता का नाम प्रकाशलाल पेशावरिया तथा माँ का नाम प्रेमलतआ था।

किरण बेदी ने अपनी स्कूल से लेकर ग्रेजुएशन तक की सारी पढ़ाई अमृतसर में ही की। किरण बेदी ने अपनी मास्टर्स डिग्री पॉलिटिकल साइंस से पंजाब यूनिवर्सिटी से पूरी की।

इसके बाद किरण बेदी ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से कानून की डिग्री एलएलबी ली और साल 1993 में किरण बेदी ने दिल्ली के आईआईटी सोशल विभाग से इसी विषय में पीएचडी भी की।

अपनी पढ़ाई के समय किरण बेदी एक होना छात्रा तो थी ही और साथ ही किरण बेदी को टेनिस खेलने का भी बहुत शौक था।

किरण बेदी का प्रोफेशनल करियर

साल 1972 में किरण बेदी ने एशिया की महिलाओं की लोन टेनिस चैंपियनशिप जीती थी। इसी के साथ इसी वर्ष किरण बेदी का इंडियन पुलिस अकैडमी में प्रवेश हुआ।

जिसके बाद साल 1974 में किरण बेदी पुलिस अधिकारी बनकर बाहर आई थीं। पुलिस में आने से पहले साल 1970 से 1972 तक किरण बेदी ने अपना करियर अध्यापन में बतौर लेक्चरर का काम शुरू किया।

इसी के साथ अध्यापन के साथ-साथ किरण बेदी प्रशासनिक तैयारी भी करती रहीं। पुलिस ने प्रवेश लेने के बाद किरण बेदी ने बहुत से पद संभाले और बहुत से काम का दिखाए।

साल 1977 में इंडिया गेट दिल्ली पर अकाल और निरंकारियों के बीच उठ खड़े हुए सिख उपद्रव को किरण बेदी ने जिस तरीके से नियन्त्रित किया वह पुलिस विभाग के रेकार्ड में एक मिसाल है ।

किरण बेदी साल 1969 में पश्चिमी दिल्ली की डी.सी पुलिस थी। साल 1972 में किरण बेदी पुलिस में शामिल हुई और पहली महिला पुलिस अधिकारी बनीं।

किरण बेदी साल 1993 से 1995 तक जेल की महानिरीक्षक रहीं। इसी दौरान किरण बेदी ने दिल्ली के तिहाड़ जेल में कई सुधार किए। इस मिशन के चलते कैदियों के जीवन में कई सकारात्मक सुधार भी देखे गए।

किरण बेदी के जेल की महिनिरीक्षक बनने के कार्यकाल को जेल के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में लिखा गया।

किरण बेदी के द्वारा किया गया सोशल वर्क

साल 1987 में किरण बेदी ने नवज्योति इंडिया फाउंडेशन (NIF) के नाम से एक एनजीओ शुरू किया।

किरण बेदी के द्वारा शुरू किया गया यह एनजीओ नशा मुक्ति और नशामुक्ति के साथ अशक्ति और महिला सशक्तिकरण के उद्देश्य से कई अन्य सामाजिक मुद्दों तक फैल गया है।

इसी के साथ किरण बेदी ने 1994 में इंडिया विजन फाउंडेशन की शुरुआत की। जिसमें पुलिस सुधारों,महिला सशक्तिकरण और जेल सुधारों के विकास के लिए काम किया। इसी के साथ किरण बेदी टीवी कार्यक्रम “आप की कचहरी” की होस्ट भी थीं।

जिसका उद्देश्य सामाजिक नागरिकों की समस्याओं को सुलझाना था।

किरण बेदी को मिले पुरस्कार

✓ किरण बेदी को साल 1979 में राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रपति वीरता पुरस्कार मिला।

✓ किरण बेदी साल 1981 में वूमन ऑफ द ईयर अवार्ड नैशनल सॉलिडैरिटी वीकली, इंडिया द्वारा किया गया।

✓ किरण बेदी को साल 1992 में अंतरराष्ट्रीय महिला पुरूस्कार मिला।

✓ इसके बाद साल 1999 में प्राइड ऑफ इंडिया अवार्ड अमेरिकन फेडरेशन ऑफ मुस्लिम ऑफ इंडियन ओरिजिन (AFMI) ने दिया ।

✓ इसी के साथ किरण बेदी को साल 2002 में वुमन ऑफ द ईयर अवार्ड, ब्लू ड्रॉप ग्रुप मैनेजमेंट, कल्चरल एंड आर्टिस्टिक एसोसिएशन, इटली द्वारा दिया गया।

✓ इसके बाद साल 2004 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा संयुक्त राष्ट्र पदक मिला।

✓ इसके बाद साल 2005 में किरण बेदी को हार्मनी फाउंडेशन द्वारा सामाजिक न्याय के लिए मदर टेरेसा पुरस्कार मिला।

✓ इसके बाद साल 2009 में किरण बेदी को आजतक द्वारा महिला एक्सेलेंस अवार्ड्स मिला।

https://www.pmwebsolution.in/
https://www.hindiblogs.co.in/contact-us/
मैं अंशिका जौहरी हूं। मैंने हाल ही में पत्रकारिता में मास्टर डिग्री हासिल की है। और मैं hindiblogs पर biographies, motivational Stories, important days के बारे में लेख लिखती हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here