श्री श्री रविशंकर प्रसाद की कहानी-Story of Ravi Shankar Prasad

0
20

जानिए दुनिया भर में मशहूर श्री श्री रविशंकर प्रसाद के जीवन परिचय

रवि शंकर का जन्म साल 1956 में 13 मई को हुआ था। रविशंकर एक भारतीय आध्यात्मिकता के गुरु हैं। इन्हें श्री श्री गुरु जी और गुरुदेव रवि के रूप में भी जाना जाता है।

श्री गुरु जी आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन के संस्थापक और आध्यात्मिक नेता हैं। इस फाउंडेशन का उद्देश्य हिंसा से छुटकारा पाना और व्यक्तिगत तनाव और सामाजिक समस्याओं को दूर करना है।

रवि शंकर जी का प्रारंभिक जीवन

श्री रविशंकर का जन्म साल 1956 में 13 मई को तमिलनाडु पपानसम में हुआ था। श्री रवि शंकर का जन्म पिता आर एस वेंकट रत्नम और माता विसालक्षी रत्नम के घर में हुआ था।

श्री रवि शंकर का नाम रवि सूर्य के नाम पर पड़ा क्योंकि उनका जन्म रविवार को हुआ था। श्री रविशंकर ने अपनी स्कूली शिक्षा बैंगलोर के एमएसई स्कूल से पूरी की।

इसके बाद बेंगलुरु के ही सेंट जोसेफ कॉलेज में विज्ञान से स्नातक की पढ़ाई पूरी की। इसी के साथ इन्होंने वैदिक साहित्य में भी स्नातक की उपलब्धि प्राप्त की।

श्री रविशंकर के पहले अध्यापक सुधाकर चतुर्वेदी थे। सुधाकर चतुर्वेदी महात्मा गांधी के सहयोगी थे और एक भारतीय वैदिक विद्वान थे।

श्री रविशंकर ने स्नातक होने के बाद अपने दूसरे अध्यापक महर्षि महेश योगी के साथ यात्रा की। इसी के साथ श्री रविशंकर ने अनुवांशिक ध्यान,वैदिक विज्ञान सम्मेलन किये,और आयुर्वेद केंद्र स्थापित किये।

श्री रविशंकर के आध्यात्मिकता की ओर बढ़ते कदम

श्री रविशंकर ने अपनी उच्च शिक्षा हासिल करने के बाद वैदिक विज्ञान पर उपदेश देने का कार्य शुरू किया। रविशंकर ने यह कार्य महर्षि महेश योगी के साथ मिलकर किया।

साल 1980 में रविशंकर जी ने दुनिया भर में यात्रा करके आध्यात्मिकता का प्रचार किया। जिसके बाद साल 1981 में रविशंकर जी ने आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन की स्थापना की थी।

इस फाउंडेशन के जरिए रवि शंकर जी ने काफी लोगों की सहायता की। इसी के साथ साल 1983 में रविशंकर जी ने पहली बार आर्ट ऑफ लिविंग कोर्स स्विजरलैंड में आयोजित किया।

इसके बाद साल 1986 में रवि शंकर जी ने कैलिफोर्निया की यात्रा एक आर्ट ऑफ लिविंग कार्यशाला के लिए की। जिसके बाद बहुत कम समय में रविशंकर जी कैलिफोर्निया के लोगों के बीच बहुत जल्द लोकप्रिय हो गए।

रविशंकर को मिले अवार्डस और उनकी उपलब्धियां

रविशंकर जी आज पूरी दुनिया में अपने अच्छे कार्यों के लिए प्रसिद्ध हैं। श्री रविशंकर जी को भारत सरकार के अलावा भी कई अन्य देशों की सरकार द्वारा सम्मानित किया गया है।

✓ भारत सरकार ने रविशंकर जी को साल 2016 में ‘पद्म विभूषण’ अवार्ड देकर सम्मानित किया। इसी के साथ 2016 में ही रविशंकर जी को डॉ नागेंद्र सिंह अंतर्राष्ट्रीय शांति पुरस्कार भी दिया गया।

✓ भारत के राष्ट्रपति ने रविशंकर जी को साल 1986 में ‘योग शिरोमणि’ का शीर्षक दिया । इसके अलावा रविशंकर जी को साल 1997 में महाराष्ट्र सरकार ने ‘गुरु महात्म्य खिताब’ से सम्मानित किया। वहीं साल 2005 में रविशंकर जी को ‘शिरोमणि पुरस्कार’ भी दिया जा चुका है।

✓ रविशंकर जी को उनके द्वारा किए गए योगदान के लिए साल 2005 में अमेरिका में ‘ग्लोबल ह्यूमनिटीअरी अवार्ड’ से भी सम्मानित किया गया। इसी के साथ साल 2010 में रविशंकर जी को आत्मज्योति अवार्ड देकर सम्मानित किया गया।

✓ फोर्ब्स पत्रिका द्वारा बनाई गई एक सूची में रविशंकर जी का नाम भी शामिल किया गया था। इसी के साथ इस पत्रिका को साल 2009 में भारत के सबसे पांच ताकतवर व्यक्तियों की सूची जारी की थी। जिसमें रविशंकर जी का नाम भी शामिल था।

https://www.pmwebsolution.in/
https://www.hindiblogs.co.in/contact-us/
मैं अंशिका जौहरी हूं। मैंने हाल ही में पत्रकारिता में मास्टर डिग्री हासिल की है। और मैं hindiblogs पर biographies, motivational Stories, important days के बारे में लेख लिखती हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here